विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi

Electric Current in Hindi

विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi

Electric Current

इस पोस्ट में हम निम्न बिन्दुओं को पढेंगे।
Electric Current in Hindi
What is Electricity in Hindi

विद्युत आवेश के गति या प्रवाह में होने पर उसे विद्युत धारा (इलेक्ट्रिक करेण्ट) कहते हैं। इसकी SI इकाई एम्पीयर है। एक कूलांम प्रति सेकेण्ड की दर से प्रवाहित विद्युत आवेश को एक एम्पीयर धारा कहेंगे।
विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi

आवेशों के प्रवाह की दिशा से धारा की दिशा निर्धारित होती है।


परिभाषा

विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi

किसी सतह से जाते हुए, जैसे किसी तांबे के चालक के खंड से विद्युत धारा की मात्रा (एम्पीयर में मापी गई) को परिभाषित किया जा सकता है :- विद्युत आवेश की मात्रा जो उस सतह से उतने समय में गुजरी हो। यदि किसी चालक के किसी अनुप्रस्थ काट से Q कूलम्ब का आवेश t समय में निकला; तो औसत धारा
विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi

मापन का समय t को शून्य (rending to zero) बनाकर, हमें तत्क्षण धारा i(t) मिलती है :
विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi
I = Q / t (यदि धारा समय के साथ अपरिवर्ती हो)
एम्पीयर, जो की विद्युत धारा की SI इकाई है। परिपथों की विद्युत धारा मापने के लिए जिस यंत्र का उपयोग करते हैं उसे एमीटर कहते हैं।

एम्पीयर परिभाषा: किसी विद्युत परिपथ में 1 कूलॉम आवेश 1 सेकण्ड में प्रवाहित होता है तो उस परिपथ में विद्युत धारा का मान 1 एम्पीयर है।

उदाहरण
किसी तार में 10 सेकण्ड में 50 कूलॉम आवेश प्रवाहित होता है तो उस तार में प्रवाहित विद्युत धारा का मान 50 कूलॉम / 10 सेकण्ड = 5 एम्पीयर
विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi

ELECTRICITY MEANING IN HINDI

दोस्तों यदि हम Electricity meaning Hindi में एक ही वाकय में समझनेकी कोशिश करे तो conductor में बहने वाली अप्रत्यक्ष एनर्जी को  इलेक्ट्रिसिटी कहते हे। वैसे एनर्जी न तो बनाई जाती हे और नाहीं नष्ट की जाती हे केवल एक रूप से दूसरे रूप में ट्रांसफर की जाती हे।

What is Electricity ?

What is Electricity ?
Electricity

इलेक्ट्रिसिटी को गहराई से समझे तो दुनिया में कोई भी पदार्थ छोटे छोटे अणु  से बना हे। और अणु के छोटे छोटे पार्ट को हम परमाणु कहते हे। प्रोटोन,न्युट्रोन और ईलेक्ट्रोन ये एक परमाणु का ही भाग हे। जिसमे प्रोटोन घनात्मक आवेश (Positive charge) इलेक्ट्रॉन ऋणात्मक आवेश (Negative charge)और न्युट्रोन में किसी भी प्रकार का चार्ज नहीं होता हे।

परमाणु के केन्द्र में प्रोटोन और न्यूट्रॉन होते हे। जबकि इलेक्ट्रॉन परमाणु के ऑरबिट में चारो तरफ चक्कर लगाते हे। जिनमे से कुछ इलेक्ट्रॉन्स को आसानी से अलग किया जा सकता है। अलग किये गए इलेक्ट्रॉन्स को ही मुक्त इलेक्ट्रॉन्स कहते है। इन्ही मुक्त इलेक्ट्रॉन्स के कारण ही Conductor में विधुत धारा(Ampere)बहती है। जिसे इलेक्ट्रिसिटी कहते हे।

इलेक्ट्रिसिटी में Voltage, Current, Resistance, Power Factor जैसे पैरामीटर और मोटर, ट्रांसफार्मर, Generator, MCB, MPCB, ACB, RCCB जैसे उपकरण का रोल महत्व का होता हे।

Importance of Electricity in Hindi

Importance of Electricity in Hindi
Importance of Electricity

यदि हम सिंपल तरीके से समजे तो इलेक्ट्रिसिटी वो एनर्जी हे जो फैन में यूज़ किया जाये तो हमें हवा मिलती हे,हीटर में यूज़ किया जाये तो तो हमें गर्मी मिलती हे। एयर कंडीशनर में यूज़ किया जाये तो हमें कूलिंग मिलता हे। लाइट्स में यूज़ किया जाये तो तो हमें प्रकाश मिलता है।

हमारे जीवन की जरुरियातो को सुविधाओं के मुताबित हमारे सामने पेस होने वाली एनर्जी को हम इलेक्ट्रिसिटी कहते हे।   

सही में वो हमें नजर नहीं आती हम सिर्फ महसूस कर सकते हे। पर उससे होने वाली हर एक हरकत हमारे जीवन को बहेतरीन बना देती हे। और आज की चकाचोंद भरी दुनिया में हम बिना इलेक्ट्रिसिटी के जीवन की कल्पना नहीं कर सकते।

विधुत ऊर्जा का इस्तेमाल हम निम्न रूपों में करते है जैसे कि -प्रकाशीय ऊर्जा । उष्मीय ऊर्जा । चुम्बकीय ऊर्जा । ध्वनि ऊर्जा । यांत्रिक ऊर्जा । और रासायनिक ऊर्जा इत्यादि।

Type of Electricity
         
1-Static Electricity

2-Dynamic Electricity

What is Static Electricity?      स्टेटिक इलेक्ट्रिसिटी किसे कहते हे?
What is Static Electricity?      स्टेटिक इलेक्ट्रिसिटी किसे कहते हे?
Static Electricity

ये वो एनर्जी हे जिसे एक स्थान से दूसरे स्थान पे नहीं ले जा सकते उसे स्थीर विधुत भी कहते हे उसे उपयोग में नहीं लिया जा सकता। किसी दो चीजो को रगड़ ने से या घर्षण की बजेसे उत्पन्न होने वाली ये इलेक्ट्रिसिटी को स्टैटिक इलेक्ट्रिसिटी कहते हे।   

How to generate Static Electricity ?

1- बालो में कंगी करते वक्त उत्पन्न होने वाली एनर्जी ।

2- प्लास्टिक की चेयर के साथै टॉवल जाड़ने से उत्पन्न होने वाली एनर्जी।             

3- इंडस्ट्रीज में बड़े बड़े रिएक्टर और वेसल में मटेरियल घूमाते समय उसमे उत्पन्न होने वाले एनर्जी।

4- बादलो में चमक ने वाली बिजली भी स्टैटिक चार्ज से ही जेनेरेट होती हे।

इस तरह से उत्पन्न होने वाले एनर्जी किसी भी काम में नहीं आती पर वो बड़ा अकस्मात् का कारण बन सकती हे इसीलिए इंडस्ट्रीज में किसी भी इक्विपमेंट्स को अर्थिंग किया जाता हे। जिसे किसी भी तरह का इलेक्ट्रिकल चार्ज को डिस्चार्ज किया जा सके।

What is Dynamic Electricity?   डायनामिक इलेक्ट्रिसिटी किसे कहते हे ?
What is Dynamic Electricity?   डायनामिक इलेक्ट्रिसिटी किसे कहते हे ?
Dynamic Electricity

जी हा गतिशील इलेक्ट्रिसिटी ये वोही इलेक्ट्रिसिटी की बात हो रही हे जो हम और आप अपने डेली लाइफ में यूज करते हे। इस इलेक्ट्रिसिटी को हम एक स्थान से दूसरे स्थान पे ले जा सकते हे। जरुरत पड़ने पर हम up और down भी कर सकते हे। जिसका जनरेशन पावर प्लांट में होता हे।

1-Nuclear power station – परमाणु ऊर्जा स्टेशन

2-Thermal power station Gas,Coal, Diesel Base -थर्मल पावर स्टेशन, कोयला, गैस, डीजल बेस

3-Hydraulic Power station – जल विद्युत केंद्र

4-Solar power station – सौर ऊर्जा स्टेशन

5-Wind power station – पवन ऊर्जा स्टेशनn,

ये वो पावर स्टेशन हे जहा पे गतिशील इलेक्ट्रिसिटी का जनरेशन होता हे जीसे ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन से लोगो के घर तक पोहचाया जाता हे।

Electricity की भूमिका मानव जीवन को उन्नत करने में बहुत बड़ी हे। हमे Electricity का saving करना चाहिए।

विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi विद्युत धारा क्या है? | Electric current in Hindi Reviewed by Indrajeet Saini on July 19, 2020 Rating: 5

No comments:

Thank you for comment

Powered by Blogger.