आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार सुबह यूपी में आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान (AATM NIRBHAR UP ROJGAR ABHIYAAN) की शुरुआत की। इस अभियान के तहत यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार प्रदेश में प्रवासी मजदूरों समेत करीब 1.25 करोड़ लोगों को रोजगार दिलाने का काम शुरू कराया गया है।
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें
पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार सुबह योगी सरकार के महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट 'आत्मनिर्भर यूपी' रोजगार अभियान' की शुरुआत की। इस खास अभियान के तहत यूपी के 1.25 करोड़ लोगों को रोजगार मुहैया करवाया जाएगा।


घर लौटे प्रवासी मजदूरों के लिए योजना
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें
यूपी में 30 लाख से अधिक प्रवासियों की वापसी व लॉकडाउन के दौरान काम बंद होने से बेरोजगार हुए कामगारों के समायोजन के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से व्यापक कार्ययोजना बनाने को कहा था। योगी सरकार ने मनरेगा, एमएसएमई, ओडीओपी, निर्माण परियोजनाओं व ग्राम्य विकास से जुड़े विभिन्न कार्यक्रमों को केंद्रित कर 1.25 करोड़ लोगों के रोजगार का रास्ता तलाशा है। इसी योजना को अमलीजामा पहनाने की शुरुआत शुक्रवार से की जाएगी।

एमएसएमई इकाइयों को 9100 करोड़ रुपये का कर्ज
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें
पीएम इससे जुड़कर यूपी सरकार की हौसला अफजाई करेंगे साथ ही लखनऊ, सिद्धार्थनगर, गोंडा, बहराइच, गोरखपुर और जालौन के लाभार्थियों से संवाद करेंगे। कार्यक्रम में केंद्र के गरीब रोजगार कल्याण अभियान के साथ ही गरीब कल्याण पैकेज के तहत एमएसएमई इकाइयों को 9100 करोड़ रुपये का कर्ज दिया जाएगा। वहीं, स्किल मैपिंग में चिह्नित किए गए कामगारों में से 1.25 लाख को कपंनियां औपचारिक नियुक्ति पत्र देंगी।

यूपी के 31 जिले अभियान का हिस्सा
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें
गरीब कल्याण रोजगार अभियान में यूपी के 31 जिलों की 32,300 ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है। इन जिलों में सिद्धार्थनगर, प्रयागराज, गोंडा, महराजगंज, बहराइच, बलरामपुर, जौनपुर, हरदोई, आजमगढ़, बस्ती, गोरखपुर, सुलतानपुर, कुशीनगर, संतकबीरनगर, बांदा, अम्बेडकरनगर, सीतापुर, वाराणसी, गाजीपुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, अयोध्या, देवरिया, अमेठी, लखीमपुर खीरी, उन्नाव, श्रावस्ती, फतेहपुर, मीरजापुर, जालौन और कौशाम्बी शामिल हैं।

1 दर्जन विभाग संभालेंगे अभियान की जिम्मेदारी
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें
अभियान के तहत 25 तरह के कार्यों को चिह्नित किया गया है, जिनमें प्रवासियों को समायोजित किया जाएगा। इसके लिए 1 दर्जन विभागों को जिम्मेदारी दी गई है। इनमें ग्राम्य विकास, पंचायती राज, सकड़ परिवहन, खनन, रेलवे, पेयजल व स्वच्छता, पर्यावरण व वन, पेट्रोलियम व नेचुरल गैस, वैकल्पिक ऊर्जा, रक्षा, टेली कम्युनिकेशन और कृषि विभाग शामिल हैं। केंद्र व प्रदेश दोनों ही आपस में समन्वय कर 31 जिलों में रोजगार अभियानों को गति देंगे।

ऐसी होगी कार्यक्रम की रूपरेखा
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें
1.25 करोड़ कामगारों के नियोजन की शुरुआत
2.40 लाख इकाइयों को आत्मनिर्भर भारत के तहत रु. 5900 करोड़ के कर्ज का वितरण
1.11 लाख नई इकाइयों को रु. 3226 करोड़ का ऋण वितरण
1.25 लाख कामगारों को निजी निर्माण कंपनियों से नियुक्ति पत्र
5000 कारीगरों को विश्वकर्मा श्रम सम्मान व ओडीओपी के तहत किट का वितरण
आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान में क्या-क्या खास, जानें 5 बड़ी बातें Reviewed by Indrajeet Saini on June 26, 2020 Rating: 5

1 comment:

Thank you for comment

Powered by Blogger.